X Close
X
9826003456

नामांकन पत्र वापसी एवं चुनाव चिन्ह आबंटित होने के बाद जिला पंचायत क्षेत्र


Gadwal:

कसडोलनामांकन पत्र वापसी एवं चुनाव चिन्ह आबंटित होने के बाद जिला पंचायत क्षेत्र क्रमांक 15 में कांग्रेस के अधिकृत प्रत्याशी मानस पाण्डेय एवं भाजपा के अधिकृत प्रत्याशी राजकुमार जायसवाल के बीच सीधा मुकाबला है जबकि क्षेत्र क्रमांक 16 , 17 एवं 18 में बिलाईगढ़ विधायक के हस्तक्षेप के बाद प्रत्याशी बदले जाने के बाद अब कांग्रेस के दो – दो प्रत्याशी हो गए हैं हालांकि पूर्व में घोषित प्रत्याशी अपने आपको कांग्रेस के समर्पित प्रत्याशी बताकर प्रचार प्रसार में जुटे हुए हैं ।

नामांकन पत्र वापसी एवं चुनाव चिन्ह आबंटित होने के बाद अब पंच ,सरपंच , जनपद पंचायत ,जिला पंचायत सदस्य के चुनावी दंगल में उतरे महारथी अब अपनी लाव लश्कर लेकर मतदाताओं के बीच पहुंच कर उनसे अपने पक्ष में मतदान करने की अपील कर रहे हैं । कसडोल जनपद क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले जिला पंचायत क्षेत्र क्रमांक 15 में कांग्रेस के अधिकृत प्रत्याशी एवं युकां के जिलाध्यक्ष मानस पाण्डेय और भाजपा के जिला उपाध्यक्ष राजकुमार जायसवाल भाजपा  की ओर से अधिकृत प्रत्याशी के बतौर चुनाव  मैदान में है और इन दोनों के बीच ही यहाँ पर सीधा मुकाबला नजर आ रहा है । नामांकन पत्र वापसी के बाद मानस पाण्डेय जहाँ अपने समर्थकों एवं कांग्रेस कार्यकर्ताओं के साथ गांव गांव घर घर जाकर मतदाताओं को कांग्रेस सरकार द्वारा पिछले एक साल के दौरान किए गए जनहितकारी योजनाओं के संबंध में विस्तार से जानकारी देते हुए अपने पक्ष में वोट करने की अपील कर रहे हैं तो वहीं भाजपा के अधिकृत प्रत्याशी राजकुमार जायसवाल अभी चुनाव के दौरान जन – सम्पर्क से लौटते समय मोटरसाइकिल दुर्घटना में घायल हो गए हैं और वे अभी रायपुर के एक निजी अस्पताल में भर्ती हैं और संभवतः चुनाव के बीच में उन्हें अस्पताल से छुट्टी मिलने की उम्मीद भी नहीं है । राजकुमार जायसवाल क्षेत्र के मतदाताओं से मार्मिक अपील कर अपने समर्थकों के माध्यम से क्षेत्रवासियों को वोट देने की अपील कर रहे हैं । कसडोल जनपद क्षेत्र के 15 के अलावा 16 , 17 एवं 18 से भी पार्टी आलाकमान ने प्रत्याशी अधिकृत किए थे लेकिन अति महत्वाकांक्षा के चलते बिलाईगढ़ विधायक ने ऐन वक्त पर अपने विधानसभा के अंतर्गत आने वाले 6 क्षेत्रों में से 5 में पार्टी प्रत्याशी अचानक बदलाव किए जिसे पहले से घोषित प्रत्याशी एवं कांग्रेस के जमींनी कार्यकर्ता स्वीकार नहीं कर रहे हैं । कांग्रेस कार्यकर्ताओं की माने तो क्षेत्र क्रमांक 16 से कांग्रेस के ब्लॉक अध्यक्ष नल कुमार पटेल की जगह पर  देवरी – नगेड़ी सोसायटी में करोड़ों का फर्जी धान खरीदी घोटाला के फरार मुख्य अभियुक्त सुशील पटेल की पत्नी को प्रत्याशी बनाया है , इससे वनांचल क्षेत्र में इस बात की जमकर चर्चा हो रही है कि विधायक को आम जनता नहीं बल्कि एक घोटालेबाज आदमी की जरूरत है । क्षेत्र क्रमांक 17 से मीरा दीवान के स्थान पर गौरी बाई ठाकुर को प्रत्याशी बनाया गया है , क्षेत्रीय कांग्रेस कार्यकर्ताओं के अनुसार गौरी बाई ठाकुर मूलतः बसपा कार्यकर्ता है इसके संबंध में श्याम टण्डन जी से जानकारी ली जा सकती है । क्षेत्र क्रमांक 18 की बात करें तो यहाँ पर 15साल के भाजपा सरकार के दौरान भी पार्टी का झण्डा बुलन्द रखने वाले गोरे लाल साहू के स्थान पर हेमंत दुबे को विधायक ने प्रत्याशी घोषित करवाया है ,  पूरे बिलाईगढ़ विधानसभा क्षेत्र में यदि किसी जिला पंचायत चुनाव क्षेत्र में बिलाईगढ़ विधायक का पुरजोर विरोध हो रहा था वो क्षेत्र क्रमांक 18 है ,क्योंकि यहाँ पर विधायक ने जिसको अधिकृत करवाया वह व्यक्ति जोगी कांग्रेस के लिए और बसपा के लिए काम करता था जबकि गोरेलाल साहू ने कसडोल एवं बिलाईगढ़ विधानसभा क्षेत्र में अभूतपूर्व काम किया है ।फिर भी बिलाईगढ़ विधायक ने उनके स्थान पर हेमंत दुबे का नाम अधिकृत करवाने कार्यकर्ताओं में जबरदस्त आक्रोश है । एक तरह से कहा जाए तो बिलाईगढ़ विधानसभा क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले जिला पंचायत चुनाव क्षेत्रों में कांग्रेस ने जो पहले प्रत्याशी घोषित किया था उनके साथ कार्यकर्ता है लेकिन व्यक्तिगत रूप से विधायक ने जिनको घोषित करवाया है ,उनको आम लोगों का समर्थन नहीं है ।

The post नामांकन पत्र वापसी एवं चुनाव चिन्ह आबंटित होने के बाद जिला पंचायत क्षेत्र appeared first on .

Prompt Times